हम्मे शा खुश रहे और दूसरो को ख़ुश रखे ।

 हेलो दोस्तों में प्रमोद

        तो दोस्तो आज में आपको कैसे खुश रहे और किसीको कैसे खुश रखे ये बताने जगहा हु।
                 आजकल तो लोगोंकी जिंदगी ऐसी भाग दौड भरी होगई है ऐसे में लोग ठीक से खाना तक नही कहते दुसरो को खुश कहा करे ऐसा ही सोच रहे होंगें आप है ना।
हम्मे शा खुश रहे और दूसरो को ख़ुश रखे ।

Https://www.goodthings2.com

                 तो आप को बता दु के अगर आप अपने काम का टेंसन का गुस्सा अपने परिवार पर क्यू निकाले दोस्तों काम काम की जगह पर होना चाहिए और परिवार अपनी जगह पर दोस्तों लेकिन कई लोग ऐसा नही करते ओर वेलोग अपने परिवार पर गुस्सा निकाल ते है ।
          ओर ये बात ठीक नही है . आपको ऐसा हरगिज़ नही करना बल्कि आपको हंमेशा परिवार और अपने बच्चों और अपने आसपास के लोगों के साथ हमेशा खुश नुमा मिजाज रखें। इस से आपको भी सामने से वैसा ही रिप्लाय मिलेगा .
              ओर आप अपने बच्चों को थोड़ा टाईम जरूर दे जैसेकि शाम को उनके साथ खेल ना कूदना थोड़ी हसी मजाक करना इस से बच्चे तो खुश होंगे लेकिन आप भी अपने थकान ओर टेंसन भूल जाओगे । दोस्तो अब आप एक ओर काम कीजिये कि आपके बड़े बुजुर्गों से भी थोड़ा टाईम पास कीजिए इस से आप को थोड़ी सी सहानुभूती मिलेंगी.
हम्मे शा खुश रहे और दूसरो को ख़ुश रखे ।


                दोस्तों हम हमेशा कहते हैं ना कि अगर बडोकासाथ होता है तो कोई भी मुश्किल नही आती जिहा ये बात सच है दोस्तो ओर एक बात है कि अगर हमने परिवार का तो प्यार पलिया लेकिन हमारे आसपास या ऑफिस वाले से हमारी कम बनती है तो दोस्तो अगर य हा भी हमने सबके साथ हसी खुसी का रिस्ता नहि रखा तो हमें तकलीफो का सामना करना पड्सक्ता है तो आप इन सभी सम्बन्ध अछे रखे दोस्तों हमेशा हस्ते रहने से सिर्फ आप ही नही हरवो इंसान जो आपके आसपास रहता है .
हम्मे शा खुश रहे और दूसरो को ख़ुश रखे ।
                  वो आपसे आपही की तरह बर्ताव करेगा और मुझे ये बताने की जरूरत नहीं है के अगर लोग आपसे अच्छा बर्ताव करे तो इससे आपको क्या क्या फायदा होसकता है.
               दोस्तों सोचो कि आप ऑफिस से घर आए और घर के दरवाजे पर ही आपकी बीवी आपकी राह देखें खाड़ी हो तो दोस्तों कितना अच्छा लगेगा आपको की आपकी बीवी आपसे कितना प्यार करती है । इसी तरह आपका छोटा बच्चा आपके सामने दौड़ कर आए और आपको लपक ले कितना अच्छा लगेगा आपको ओर सोचो कि आप के आने के बाद अगर आपकी मा आपके माथे पर हाथ फेरे तो क्या अच्छा नही लगेगा दोस्तों ये सब होगा जब आप उनके साथ हमेशा अच्छा बरताव ओर खुश नुमा मिजाज रखेंगे.
                  में आपको पढ़ा पढाया ज्ञान नही देरहा हु सिर्फ़ मेरे विचार व्यक्त कर रहा हु।
                 लेकिन सच मे अगर हम हसके बात किसी से करेंगे तो सामने से भी वैसा ही रिप्लाय आए गया और कहवत भी है ना दोस्तो की जोहस्ता है उसीका घर बस्ता है  .
                                  फिर मिलेंगे दोस्तो।

Post a Comment

5 Comments

Niroj said…
Good post.
https://worldofscriptz.com/non-pharmacological-treatment-for-depression/